Cyclone Nivar 2020

हाल ही में, उष्णकटिबंधीय चक्रवात निवार ( tropical cyclone Nivar ) ने तमिलनाडु-पुदुचेरी तट के साथ भूस्खलन (landfall ) किया है।

  • लैंडफॉल से तात्पर्य एक चक्रवात की बाहरी दीवार के तट और उससे आगे बढ़ने की घटना से है।

UNESCO Global geoparks 2020

प्रमुख बिंदु

उष्णकटिबंधीय चक्रवात:

Tropical Cyclone
Tropical Cyclone:
  • उष्णकटिबंधीय चक्रवात (Tropical Cyclone) एक तीव्र गोलाकार तूफान है जो गर्म उष्णकटिबंधीय महासागरों में उत्पन्न होता है और कम वायुमंडलीय दबाव, तेज़ हवाओं और भारी बारिश इसकी विशेषता है।
  • उष्णकटिबंधीय चक्रवातों की विशिष्ट विशेषता उसकी केंद्रीय आंख, खुला आसमान, गर्म तापमान और कम वायुमंडलीय दबाव का एक केंद्रीय क्षेत्र होता है।
  • इस प्रकार के तूफान को उत्तरी अटलांटिक और पूर्वी प्रशांत में hurricanes और दक्षिण पूर्व एशिया और चीन में typhoons कहा जाता है। उन्हें दक्षिण-पश्चिम प्रशांत और हिंद महासागर क्षेत्र में उष्णकटिबंधीय चक्रवात और उत्तर-पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया में विली-विली (Willy-willies) कहा जाता है।
  • तूफान उत्तरी गोलार्ध में घड़ी के उलटी दिशा में (anticlockwise ) और दक्षिणी गोलार्ध में दक्षिणावर्त/ घड़ी के दिशा में (clockwise ) घुमते हैं।

सदियों पुराना है प्रेम विवाह का प्रचलन ,जाने क्या है घोटुल…

Go: www.ekawaz18.com: जानें आखिर उष्णकटिबंधीय चक्रवात 30° उत्तरी तथा 30°  दक्षिणी अक्षांशों के बीच ही क्यों आते हैं?

The Hindu Important Articles for IAS today |25th November 2020

Cyclone Nivar:

Cyclone Nivar:
Cyclone Nivar:
  • यह चौथा चक्रवात है जिसने इस वर्ष उत्तर हिंद महासागर क्षेत्र में तैयार हुआ है। पहले तीन चक्रवात थे Cyclone Gati (नवंबर में सोमालिया में भूस्खलन), Cyclone Amphan (पूर्वी भारत ने मई में इसे देखा), और Cyclone Nisarga (महाराष्ट्र में)।
  • 2018 में चक्रवात गाजा के बाद दो साल में तमिलनाडु को टक्कर देने वाला Cyclone Nivar दूसरा चक्रवात होगा।
  • विश्व मौसम विज्ञान संगठन (World Meteorological Organisation (WMO)) के दिशानिर्देशों के आधार पर तूफान को Cyclone Nivar नाम दिया गया है। निवार को ईरान द्वारा दिए गए नामों की सूची में से चुना गया है।
    • World Meteorological Organisation (WMO) के दिशानिर्देशों के अनुसार, हर क्षेत्र के देशों को चक्रवातों के नाम की सूची देनी होती है।।
    • उत्तर हिंद महासागर क्षेत्र बंगाल की खाड़ी और अरब सागर के ऊपर बने उष्णकटिबंधीय चक्रवातों को कवर करता है।
    • इस क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले 13 सदस्य बांग्लादेश, भारत, मालदीव, म्यांमार, ओमान, पाकिस्तान, श्रीलंका, थाईलैंड, ईरान, कतर, सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात और यमन हैं।
    • इन देशों द्वारा इस वर्ष के लिए कुल 169 चक्रवात नामित किए गए थे, जिसमें प्रत्येक देश के 13 नाम थे।

Gist of Rajya Sabha TV : गिलगित-बाल्टिस्तान, भारत का एक अभिन्न अंग

सरकार द्वारा उठाए गए कदम:

  • तमिलनाडु सरकार ने चक्रवात निवार के प्रभाव को देखते हुए चेन्नई सहित 16 जिलों में  Negotiable Instruments Act, 1881 के तहत public holiday की घोषणा की है।
  • मछली पकड़ने की गतिविधियों को प्रतिबंधित कर दिया गया है और चक्रवात की चपेट में आने वाले तटीय इलाकों के निवासियों को बाहर निकाला गया है। राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) ने प्रभावित क्षेत्रों में अपनी टीमों को तैनात किया है।

Source:IE

[TOPPERS STRATEGY] Keerthana H S (रैंक -167) के धैर्य और दृढ़ता की कहानी – पहले 5 बार प्रीलिंस में फ़ेल, 6 वें अटैम्प्ट में सीधा बनी IAS

close
mailpoet

Free IAS Preparation by Email

We don’t spam! Read our privacy policy for more info.